69000 शिक्षक भर्ती में आवेदन फार्म की त्रुटियों पर सुनवाई तीन सिंतबर को

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में आवेदन फार्म में विभिन्न त्रुटियों के मामले में एकल पीठ के आदेश को चुनौती देने वाली स्पेशल अपीलों को निस्तारण के लिए तीन सिंतबर को पेश करने का निर्देश दिया है। यह आदेश मुख्य न्यायमूर्ति गोविंद माथुर एवं न्यायमूर्ति एसडी सिंह की खंडपीठ ने आशुतोष कुमार श्रीवास्तव व 35 तथा कई अन्य की अपीलों पर दिया है।

 

एकल पीठ ने त्रुटियां सुधारने का आदेश देने से इनकार करते हुए याचिकाएं खारिज कर दी थीं। अपीलार्थियों के अधिवक्ता सीमांत सिंह का कहना है कि अपीलार्थियों ने सहायक अध्यापक पात्रता परीक्षा के लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी के समक्ष आवेदन किया था। ए‌क दिसंबर 2018 को शासनादेश आया कि इस परीक्षा के आवेदन में उल्लिखित प्रविष्टियों को आगे के लिए भी अंकित किया जाएगा। अपीलार्थी परीक्षा में सफल हो गए। इसके बाद नियुक्ति के लिए उनसे दोबारा पूरे ब्योरे के साथ आवेदन मांगा गया। जबकि होना यह चाहिए कि नियुक्ति के लिए मांगे गए आवेदन में सिर्फ सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा के प्राप्तांक और जिले की वरीयता मांगी जानी चाहिए। क्योंकि 15 मार्च 2018 को हुए 22वें संशोधन में स्पष्ट कहा गया है कि नियुक्ति के लिए सिर्फ उन्हीं लोगों के आवेदन लिए जाएंगे, जो सहायक अध्यापक पद की अर्हता रखते हैं।

अधिवक्ता का कहना था कि अपीलार्थी भर्ती परीक्षा में प्राप्तांकों के आधार पर सफल हुए हैं। दोबारा आवेदन में हुई त्रुटि को सुधारने का मौका दिया जाना चाहिए या उनसे नए सिरे से आवेदन लिया जाए।

Leave a Comment

%d bloggers like this: